27 दिस॰ 2011

नववर्ष मंगलमय हो !

 


नव वर्ष की 
नूतन सुबह का 
नव्य सूरज 
अपनी रेशमी किरणों के
सतरंगी आँचल में
बांधकर लाए
ढेर सारी खुशियाँ ,
उमंग और प्यार ...

...और बिखेर जाए
आप सबके जीवन में
ताकि आप सपरिवार
स्वस्थ एवं सकुशल रहकर
आनंद से सराबोर रहें
आजीवन !

3 टिप्‍पणियां:
Write टिप्पणियाँ
  1. बहुत सुन्दर ....आपको भी बधाई !
    जय जय !

    उत्तर देंहटाएं
  2. नए को अपनाएं,
    पर पुराने को न भूल जाएं !

    ...नए साल में सब कुछ लागे नया-नया !

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपको भी नववर्ष के शुभागमन की बहुत बहुत शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं

ब्लॉग़ की रचनाओं को पढ़कर आपके मन में कुछ ना कुछ भाव तो जागेंगे ही, चाहे वह आलोचना हो या तारीफ़ या फ़िर एक समालोचना, तो फ़िर हिचक किस बात की, बस लिख डालिए यहां अपने विचार टिप्पणी के रुप मे। आपकी टिप्पणी का सदा स्वागत है।
धन्यवाद!

a href="YOUR LINK">YOUR TEXT /a