11 जन॰ 2021

Fatehpur Live : 25 करोड़ की लागत से बनेगी नेशनल हाईवे के नउवाबाग मोड से राधानगर पुलिस चौकी तक (जेल रोड बाईपास) की सड़क

Fatehpur Live : 25 करोड़ की लागत से बनेगी नेशनल हाईवे के नउवाबाग मोड से राधानगर पुलिस चौकी तक (जेल रोड बाईपास) की सड़क



फतेहपुर: नेशनल हाईवे के नउवाबाग मोड से राधानगर पुलिस चौकी तक (जेल रोड बाईपास) की सड़क पिछड़े डेढ़ दशक से खस्ताहाल है। सड़क के आठ प्वाइंटों में दो-दो फिट के गड्ढे हैं जहां आए दिन वाहन फंस जाते हैं। तीन साल से इसके निर्माण की मांग तेज है। कई बार धरना प्रदर्शन और आंदोलन भी हो चुके हैं। अब इस मार्ग के निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। जिला प्रशासन के प्रस्ताव पर शासन की ईएफसी (ई-फाइनेंस कमेटी) टीम ने इसके निर्माण को मंजूरी दे दी है।


शहर की लाइफ लाइन सड़क के रूप में प्रयोग होने वाले इस बाईपास से मुख्य आवागमन बांदा, चित्रकूट, हमीरपुर, मध्य प्रदेश की तरफ जाने और उपरोक्त जगहों से आने वाले वाहन मुख्यालय होकर लखनऊ, प्रयागराज, कानपुर के लिए जाते हैं। इस सड़क की उपयोगिता इस लिए और बढ़ी, क्योंकि नये बाईपास कांधी-कोराई में वाहनों का आवागमन प्रतिबंधित है। 


जिला प्रशासन ने इसके निर्माण के लिए वर्ष 2020 में प्रस्ताव भेजा था। पहले इस प्रस्ताव को अधीक्षण अभियंता, इसके बाद मुख्य अभियंता और बाद में पीडब्लूडी मुख्यालय लखनऊ ने हरी झंडी दी थी। हर जगह से पास होने के बाद बीते दिन प्रस्ताव को शासन की ई-एफसी कमेटी के समक्ष वित्तीय सहमति के लिए रखा गया था। शासन की ईएफसी कमेटी ने इसे अलग-अलग दो भागों में पूर्ण कराने की सहमति प्रदान की है। यह सूचना जिले में पहुंचते ही लोगों में खुशी की लहर दौड़ गयी है।


■ जेल रोड बाईपास का पहला भाग
● नउवाबाग मोड़ से जयरामनगर चौराहे तक
● कुल दूरी - 4.7 किलोमीटर
● निर्माण लागत - 11.96 करोड
● सीसी प्वाइंट-अग्रसेन तिराहा, महर्षि मोड़, जेल के पास, तहसील के सामने, डीएम आवास के पास कुल 800 मीटर सीसी निर्माण शेष भाग में तारकोल वाली सड़क
● सड़क के दोनों पटरियों में नाले का निर्माण व डक्ट (तारों के लिए सर्विस लेन)
● निर्माण के लिए स्त्रोत- स्टेट हाईवे मार्ग


■ जेल रोड का दूसरा भाग
● जयराम नगर चौराहे से कटका मोड़ तक
● कुल दूरी- 7.50 किलोमीटर
● निर्माण लागत- 13 करोड़
● सीसी प्वाइंट: खंभापुर मोड़, राधानगर चौकी व अंडरपास के समीप कुल 2200 मीटर
● सड़क के दोनों पटरियों में नाले का निर्माण व डक्ट (तारों के लिए सर्विस लेन)
● निर्माण के लिए स्त्रोत- ओडीआर (अन्य, जिला मार्ग मद)



क्या बोले जिम्मेदार

जेल रोड बाईपास के लिए जो प्रस्ताव शासन भेजा गया था, उसे ईएफसी में मंजूरी मिल गयी है। उम्मीद है कि जल्द ही इसका जीओ जारी होगा, जीओ जारी होने के बाद इसका निर्माण कराया जाएगा। -अपूर्वा दुबे डीएम 

जेल रोड खस्ताहाल है, इस सड़क पर ट्रैफिक का मुख्य दबाव है। मौरंग व गिट्टी लदे वाहन इसी मार्ग से गुजरते हैं। धन अवमुक्त होने के साथ जल्द ही इसका निर्माण होगा। -ज्वाला प्रसाद, एई पीडब्लूडी

9 जन॰ 2021

Fatehpur Live : पुराना जीटी रोड बनेगा फोरलेन, 41 करोड़ मंजूर

Fatehpur Live :  पुराना जीटी रोड बनेगा फोरलेन, 41 करोड़ मंजूर


फतेहपुर : ढाई साल पहले अतिक्रमण के चलते शहर में हुई तोड़फोड़ अब सृजन की ओर बढ़ रही है। जिला अस्पताल के समीप चरक चौराहा और ज्वालागंज चौराहे में शहर का पहला फाउंटेन चौराहा बना तो अब सुंदरीकरण के लिए पीडब्लूडी के प्रस्ताव पर नउवाबाग से लोधीगंज बाईपास तक छह किलोमीटर पुराने जीटी रोड को फोरलेन बनाने के प्रस्ताव को हरी झंडी मिल गई है। 


शासन की ई-फाइनेंस कमेटी ने 41 करोड़ खर्च की सहमति देने के साथ बजट आवंटन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। शहर के अंदर से गुजरने वाला यह फोरलेन डिवाइडर युक्त होगा और दोनों तरफ पैदल फुटपाथ भी बनेगा।


वर्ष 2018 में पीडब्लूडी द्वारा अधीक्षण अभियंता को भेजे गए फोरलेन प्रस्ताव में 33 करोड़ का इस्टीमेट सौंपा गया था। जिसके बाद इसमें संशोधन करके इसे पुन: बनाकर भेजा गया। नए प्रस्ताव में बीच सड़क से दोनों तरफ नौ-नौ मीटर की सड़क और सड़क के मध्य में दो फिट का सीमेंटेड डिवाइजर डिजाइन कर सड़क के एक तरफ पांच फिट चौड़ा नाला व डक्ट (सर्विस लेन) रखी की जगह निर्धारित करते हुए दोनों पटरियों में करीब एक-एक मीटर का इंटरलाकिग फुटपाथ तय किया गया। इस नये प्रस्ताव में निर्माण की लागत 41 करोड़ रखी गयी, जिसे अधीक्षण अभियंता पीडब्लूडी ने स्वीकृत करते हुए अंतिम सहमति के लिए शासन की ई-फाइनेंस कमेटी के पास स्वीकृत हेतु भेजा था। 

पिछले दिनों शासन की उपरोक्त कमेटी ने इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है। अब इसके लिए बजट आवंटन की प्रक्रिया भी शुरू होने जा रही है।


■  कैसा होगा फोरलेन स्वरूप
● फोरलेन का नाम- पुराना जीटी रोड
● फोरलेन की दूरी- छह किलोमीटर
● निर्माण के लिए जगह- 22 मीटर
● मौके पर खाली सड़क - 22 मीटर
● फोरलेन के लिए लागत- 41 करोड़

■  क्या क्या बनेगा इसे भी जाने
● सड़क मध्य से दोनो तरफ- नौ-नौ मीटर की सड़क
● सड़क के मध्य में दो फिट का सीमेंटेड डिवाइडर
● सड़क के एक तरफ पांच फिर में नाला व डक्ट लेन
● सड़क के दोनों तरफ एक-एक मीटर का इंटरलाकिग फुटपाथ


बदल जाएगा शहर का मुखौटा

शहर के अंदर प्रवेश करते ही यहां की सड़कें पिछडेपन का एहसास कराती है। पुराना जीटीरोड बनने से शहर का मुखौटा बदल जाएगा। खास करके नउवाबाग, गोपालनगर, डाकबंगला, आबूनगर, बाकरगंज, ज्वालागंज, शांतिनगर मोहल्ले की तस्वीर बदल जाएगी। इन स्थानों में लगने वाले जाम से निजात मिलेगी। 


पुरानी जीटी रोड को फोरलेन करने का जो प्रस्ताव भेज दिया था, उसकी ईएफसी शासन स्तर पर हो गई है। जिले के लिए यह बड़ी सौगात है। अब शासन से बजट आवंटित होने पर कार्य शुरू कराया जाएगा। हमारा प्रयास है कि और भी कुछ सड़कें हैं जिनका सुंदरीकरण कराने का प्रस्ताव तैयार कर शासन को भेजा जाए ताकि शहर की तस्वीर बदल सके। -अपूर्वा दुबे, डीएम

2 जन॰ 2021

जनता का हित सर्वोपरि, नियम से होगा काम : फतेहपुर की नवागत जिलाधिकारी का एलान

जनता का हित सर्वोपरि, नियम से होगा काम : फतेहपुर की नवागत जिलाधिकारी का एलान


फतेहपुर: विशेष सचिव आवास-विकास एवं शहरी नियोजन पद से तबादले पर जिले पहुंची आइएएस अफसर अपूर्वा दुबे ने शनिवार को डीएम पद का पदभार ग्रहण कर लिया। कलेक्ट्रेट की ट्रेजरी में चार्ज लेने के बाद उन्होंने कलेक्ट्रेट भवन में स्थापित हर दफ्तर का घूमकर निरीक्षण किया। नजारत, अभिलेखागार, अंग्रेजी दफ्तर और अलग-अलग पटलों पर पहुंच कर कामकाज की पड़ताल की इसके बाद अफसरों के साथ बैठक कर जिले की भौगोलिक स्थिति की जानकारी ली।


2013 बैच की आइएएस अफसर अपूर्वा की गिनती तेज-तर्रार अफसरों में होती है। वह कलेक्ट्रेट के गांधी सभागार में पत्रकारों से रूबरू हुई। प्राथमिकता बताते हुए कहा कि जनता का हित सर्वोपरि है, जनता का काम पूरी ताकत के साथ नियम और मानक पर होगा। जनता से मुलाकात का समय तय होगा और समयबद्धता के साथ काम भी पूरे किए जाएंगे। एक सवाल के जवाब में कहा कि अवैध खनन ओवरलोडिग जैसे प्रकरण को वह खुद देखेंगी, नियमों का पालन करते हुए खनन होगा ओवरलोडिग भी रोकी जाएगी। उन्होंने जनपद से आवागमन करने वाले अफसरों को भी हिदायत दी कि अफसर हो या कर्मचारी उसे शासन से तय समय के अनुसार काम को पूरा करना होगा और दफ्तर में समय देना होगा। उन्होंने कहा कि आम जनता, राजनीतिक और प्रबुद्धजनों सहित मीडिया से स्वस्थ फीडबैक को भी तवज्जो दी जाएगी।


■ नए डीएम के बारे में जाने
● नाम- अपूर्वा दुबे
● आईएएस बैच- 2013
● पिता- संजय दुबे देवरिया
● ननिहाल- बेतिया बिहार
● सेवाएं- ज्वाइंट मजिस्ट्रेट वाराणसी, एसडीएम कानपुर देहात, सीडीओ अमेठी व फर्रुखाबाद रहीं।

11 नव॰ 2020

Fatehpur Live : जिला प्रशासन की सख्ती ने भगाई नगरपालिका की सुस्ती, ठंड से बचाव के लिए तैयार होने लगे रैन बसेरे

Fatehpur Live : जिला प्रशासन की सख्ती ने भगाई नगरपालिका की सुस्ती, ठंड से बचाव के लिए तैयार होने लगे रैन बसेरे


फतेहपुर : ठंड से बचाव के लिए प्रशासन रैन बसेरों का निर्माण कराया जाता रहा है। ठंड जल्द पड़ने के चलते नगर पालिका प्रशासन को इसकी सुधि नहीं रही है। शासन ने भले ही लोगों को ठंड से बचाव के लिए निर्देश दिए थे, लेकिन धरातल पर यह काम ठंडे बस्ते में पड़ा हुआ था। जिला प्रशासन के सक्रिय होने के बाद रैन बसेरा निर्माण का कार्य शुरू हो गया है।


नगर पालिका ठंड से लोगों को बचाने के लिए शहर के रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन और जिला अस्पताल में तीन जगहों में रैन बसेरा बनाता आया है। रैन बसेरा के साथ ही इनमें ठंड को भगाने के लिए अलाव जलाने की व्यवस्था करता आया है। रात में खुले स्थानों में लोग न रात काटें इसके लिए नगर पालिका द्वारा बिस्तर और कंबल की व्यवस्था की जाती रही है। इन तमाम तैयारियों से रैन बसेरा को सरसब्ज करने के लिए नगर पालिका ने कमर कस ली है। 


तीन लाख की आबादी वाले शहर में तमाम लोग ऐसे होते हैं जो कमाई के लिए शहर आते हैं। और रात में फुटपाथ पर सो जाते हैं। गर्मी के दिनों में रिक्शा, ठेलिया, तथा मजदूरी करने वालों के लिए ठंड में रात काटना मुश्किल हो जाता है। शासन ने इन गरीबों को राहत देने के लिए रैन बसेरा बनाने के निर्देश दिए हैं।अधिशासी अधिकारी नगर पालिका मीरा सिंह ने बताया कि तीन अस्थाई रैन बसेरा बनाए गए हैं।इसके साथ नवीन मार्केट के पीछे स्थायी रैन बसेरा संचालित है। रैन बसेरा तैयार करने की रिपोर्ट डीएम को भेज दी गई है।

Fatehpur Live : जनपद के विकास के लिए जिला प्रशासन, जनता और सिविल सोसाइटी दोनो को होगा जुटना, वर्चुअल मीट सम्पन्न

Fatehpur Live : जनपद के विकास के लिए जिला प्रशासन, जनता और सिविल सोसाइटी दोनो को होगा जुटना, वर्चुअल मीट सम्पन्न



■  जनपद में विकास की संभावनाओं को लेकर फतेहपुर फोरम वर्चुअल मीट सम्पन्न,


■ जिलाधिकारी बोले आप दीजिये सुझाव - प्रशासन जमीन पर उतारने को रहेगा प्रयासरत 



 
गत वर्षों की भांति माटी से माटी कार्यक्रम की श्रृंखला एवं फ़तेहपुर स्थापना दिवस के मौके पर फतेहपुर फोरम व न्यू मीडिया सृजन संसार ग्लोबल फाउंडेशन के सहयोग से जनपद के विकास पर चिंतन हेतु ऑनलाइन वेबगोष्ठी का आयोजन 10 नवम्बर को शाम 7 बजे  किया गया। 

वेबगोष्ठी में देश, विदेश में रह रहे फतेहपुर की माटी के ढाई हजार से ज्यादा लोग सीधे मीटिंग में या लाइव जुड़े। ख्यातिलब्ध साहित्यकारों के साथ साथ विशिष्ट मेधा के व्यक्तित्वों के  साथ ही साथ जिला प्रशासन की तरफ से स्वयं जिलाधिकारी श्री संजीव सिंह द्वारा प्रतिभाग किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत कल्याण मंत्र के द्वारा सीधे ओमघाट, भिटौरा से की गई। माननीय राष्ट्रपति द्वारा प्रदत्त राजभाषा गौरव पुरस्कार 2019-20 विजेता डॉ शैलेश शुक्ल द्वारा जनपद के साहित्यकार श्री वेदप्रकाश मिश्र की कविता का पाठ करते हुए माटी के प्रति कर्तव्यों की याद दिलाई। संचालन का जिम्मा संभाले श्री राजीव तिवारी, विद्युत् अभियंता, भारत सरकार द्वारा फतेहपुर फोरम का परिचय व पूर्व में किये प्रयासों के बारे में बतलाते हुए न्यू मीडिया सृजन संसार ग्लोबल फाउंडेशन का आभार व्यक्त किया जिसके सहयोग से फतेहपुर फोरम द्वारा यह वेबगोष्ठी आयोजित की गयी।

प्रथम वक्ता के रूप में श्री प्रदीप श्रीवास्तव, अध्यक्ष फतेहपुर फोरम द्वारा जनपद फतेहपुर में जल और जलाशयों के संरक्षण के साथ साथ ससुरखदेरी नदी के कार्य को आगे बढाने का आग्रह जिला प्रशासन द्वारा किया गया।

ख्याति लब्ध साहित्यकार व समीक्षक डॉ ओम प्रकाश अवस्थी द्वारा फतेहपुर जनपद की सांस्कृतिक उपलब्धियों, विरासत उनकी चुनौतियां को लेकर लोक साहित्य को सहेजे जाने की आवश्यकता बताई। 

अपनी साहित्यिक कृतियों के जरिये प्रसिद्द साहित्यकार प्रोफेसर असगर वजाहत द्वारा जनपद की साहित्यिक विरासत को को आगे बढाने की चुनौतियों के साथ साथ रोजगार पर भी फोकस करने की आवश्यकता जताई।


भारत सरकार अंतर्गत डायरेक्टर कौशल विकास मंत्रालय से जुड़ी श्रीमती दीप्ति श्रीवास्तव द्वारा फतेहपुर जनपद जो कि एक पिछड़े जनपद के रूप में चिन्हित है वहां मानव कौशल विकास मिशन की उपलब्धियों, चुनौतियां और संभावित समाधान के बारे में विस्तार से जानकारी दी और केंद्र सरकार की योजनाओं के द्वारा किस प्रकार से फतेहपुर जनपद में बदलाव हेतु वास्तविक रूप में लागू किया जा सकता है इसके बारे में विस्तार से चर्चा की।

वेबगोष्ठी में इसी क्रम में एडवोकेट श्री प्रशांत उमराव सुप्रीम कोर्ट द्वारा फतेहपुर जनपद के समकालीन शैक्षिक उपलब्धियों चुनौतियों और के बारे में विस्तार से बताते हुए उनके द्वारा जनपद के प्रत्येक तहसील में केंद्रीय विद्यालय की स्थापना के विषय में अपने किए गए अपने प्रयासों के बारे में विस्तार से बताया गया और जिलाधिकारी महोदय से सहयोग की आकांक्षा व्यक्त की।


श्री जयंत मिश्रा प्रिंसिपल कमिश्नर, इनकम टैक्स द्वारा फतेहपुर जनपद की पहचान के लिए तेंदुली मंदिर के मॉडल का प्रदर्शन किया गया साथ ही साथ इसे जिला प्रशासन द्वारा अपनाने व प्रसारित करने की भी बात कही, जिससे आने वाले समय में इसे जनपद की पहचान के रूप में इसे विकसित किया जा सके।

अपने लेखन के जरिये प्रसिद्द श्री अमित राजपूत द्वारा विस्तार से जनपद के प्राचीन काल से लेकर आधुनिक लेखकों पर विस्तार से परिचय कराया गया साथ ही साथ साहित्यिक व्यक्तित्वों को कैसे आने वाली पीढ़ी से परिचित कराया जाए, इस पर भी विचार व्यक्त किये।

वेबगोष्ठी के अंतिम चरण में उठाए गए विभिन्न मुद्दों व विषयों पर जिलाधिकारी श्री संजीव सिंह द्वारा विस्तार से चर्चा की गई। उन्होंने जिला प्रशासन द्वारा पूर्ण सहयोग किए जाने की बात कही और कई बिंदुओं पर आगामी कार्ययोजना बतायी।

जनपद के विकास के लिए जिलाधिकारी ने अपनी निजी प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए यह आशा जताई कि फतेहपुर फोरम और फतेहपुर की जनता के सहयोग से आगे जल्द बड़े प्रयास और परिवर्तन होंगे और फतेहपुर पिछड़े जनपद के स्तर से जल्द मुक्ति पा सकेगा।

जिलाधिकारी महोदय द्वारा जनपद में पार्क और खेलकूद मैदान की कमी को देखते हुए दर क्लब की स्थापना और उसमें नए सिरे से सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराने की भी घोषणा मीटिंग में की गई जिसका सभी उपस्थित सदस्यों द्वारा स्वागत किया गया। जलसंरक्षण एवं प्रतिवर्ष सेना भर्ती हेतु जिला प्रशासन की तरफ से पूर्ण सहयोग हेतु आश्वासन दिया गया।

कार्यक्रम के समापन के अवसर पर श्री शैलेंद्र सिंह परिहार, सचिव दिल्ली सरकार द्वारा सभी फतेहपुर फोरम सदस्यों को अपनी माटी में रहने वाले पारिवारिक सदस्यों एवं मित्रों से लगातार संवाद और सहयोग बनाए रखने का आह्वान किया, तथा सभी प्रतिभागियों का धन्यवाद अदा करते हुए कार्यक्रम में जिलाधिकारी श्री संजीव सिंह को अपना कीमती समय देकर उपस्थित रहने के लिए विशेष धन्यवाद दिया गया।

वेबगोष्ठी में डॉ. शैलेश शुक्ल, प्रवीण त्रिवेदी, सचिन तिवारी व रविकांत मिश्र आदि द्वारा तकनीकी सहयोग किया गया।

Fatehpur Live : जनपद में खूबसूरत पार्क में बदलेगा 16 बीघे का दर क्लब

Fatehpur Live : जनपद में खूबसूरत पार्क में बदलेगा 16 बीघे का दर क्लब


फतेहपुर: डीएम आवास के ठीक पीछे 16 बीघे रकबे का दर क्लब अब शहर का सबसे खूबसूरत पार्क विकसित होगा। यह वही जमीन है, जिसमें पिछले डेढ़ दशक से भू-माफियाओं की नजर थी। कई बार इसको संरक्षित और सुरक्षित करने के प्रयास पूर्व अधिकारियों के द्वारा किए गए, लेकिन बजट के संकट से स्थिति ज्यो-त्यों ही रही। अब प्रशासन ने इसके लिए खनिज फाउंडेशन न्यास का खजाना खोलते हुए पार्क विकसित करने के लिए सवा करोड़ का प्रस्ताव तैयार किया है।


यूं तो शहर में 17 पार्क हैं, लेकिन जगह के मामले में किसी भी पार्क में इतनी जमीन नहीं हैं। नतीजा कि पार्क सिर्फ पेड़-पौधों और कुछ बेंच तक ही सीमित रह गए। जगह के अभाव में शहरी मुख्य सड़कों को मार्निंग वाक के लिए उपयोग में लाते हैं। कई बार यह दुर्घटनाओं का शिकार भी हो जाते हैं। अब प्रशासन ने यह नया प्रस्ताव तैयार किया है तो हर शहरी खुशी से झूमने लगा है। खास बात यह है कि यहां पार्क विकसित होने से दर क्लब की जमीन पर अवैध कब्जे की आशंका भी हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी। यह क्लब यूं तो अफसरों व कर्मचारियों के खेल-कूद के लिए करीब 65 साल पहले आरक्षित किया गया था, लेकिन अब इसे जब पार्क का रूप दिया जा रहा है, तो इसमें सबके लिए दरवाजे खोलने का प्लान तैयार किया जाएगा। पार्क में क्या क्या बनेगा


तैयार प्रस्ताव के अनुसार 16 बीघे के इस क्लब को पार्क का स्वरूप दिया जाएगा। इसमें वाकिग ट्रैक, रनिग ट्रैक अलग-अलग बनाए जाएंगे। पार्क में ओपेन जिम, बच्चों के लिए छोटे-बड़े छूले, बालीवाल कोट, खो-खो व कबड्डी के लिए सुरक्षित स्थान और योग करने वालों के लिए अलग स्थान बनेगा। पार्क में ग्रीनरी के लिए पौधे लगाए जाएंगे। दस्तावेजी पड़ताल में जमीन सरकारी


दर क्लब के लिए 16 बीघे के करीब जमीन पूरी तरह से सरकारी है। इस पर किसी की भूमिधर या कोई ऐसी सुरक्षित जमीन नहीं है जिसमें निर्माण कार्य न हो सके। हालांकि बीते वर्षों में कुछ लोग इस जमीन के अपनी होने का दावा करते रहे हैं। प्रस्ताव तैयार है, जल्द होगा काम: डीएम


डीएम संजीव सिंह ने कहा कि दर क्लब के विकास को लेकर वह काफी दिनों से प्रयास कर रहे थें, उन्होंने यहां का मौका-मुआयना भी किया है। शहर के बीच में इतनी जमीन एकमुश्त कहीं पर नहीं हैं। पार्क बनाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। जल्द ही इस पर काम भी शुरू किया जाएगा।

Fatehpur Live : गोबर के दियों से इको फ्रेंडली होगी दीवाली, ऑनलाइन उपलब्ध हैं पूजा किट

Fatehpur Live : गोबर के दियों से इको फ्रेंडली होगी दीवाली,  ऑनलाइन उपलब्ध हैं पूजा किट



फतेहपुर : कोरोना संकट के दौरान प्रकृति से हुए जुड़ाव ने दीवाली पर्व की तैयारियों को नया अंदाज दिया है। पर्यावरण संरक्षण की ओर बढ़ते कदमों में गाय के गोबर से तैयार दीये इस दीवाली के मुख्य आकर्षण होंगे। समाजसेवी अशोक तपस्वी की गोबर धनक्रांति योजना से जुड़कर कई महिलाओ ने गोबर के रंग-बिरंगे खूबसूरत दीयों की पैकजिग कर बाजार में पूजा किट के नाम से उतारा है। कई महिला स्वयं सहायता समूह गोबर के दीये तैयार कर ऑनलाइन बुकिंग की सुविधा दी है।


शहर के तपस्वीनगर में इस समय आठ से दस की संख्या में महिलाएं गाय के गोबर के दिये, शुभ-लाभ, स्वास्तिक का चिन्ह आदि तैयार करने में लगी है। दीक्षा सिंह, प्रेमा, अफरोज जहां, मोमिना, शबीना बेगम आदि ने बताया कि गाय के गोबर में लकड़ी का बुरादा मिलाकर डिजाइनर दीये एक दिन में सौ से अधिक तैयार हो जाते है। सुखाने के बाद दीयों में अलग-अलग रंग भरे जाते हैं। फतेहपुर विकास मंच से जुड़े कई महिला समूहों ने गांव में गाय के गोबर से दीये तैयार कर बाजार में बिक्री के लिए उतार दिए है। बाजार में इस बार इलेक्ट्रानिक झालर से घर रोशन करने के साथ दीयों की रोशनी करने के प्रति रुझान तेज हुआ है। शुद्धता के साथ पर्यावरण के लिए बेहतर मान कर इस साल गाय के गोबर से तैयार दीयों की धूम कम नहीं है।


ऑनलाइन बुकिग
-समाजसेवी अशोक तपस्वी ने बताया कि गाय के गोबर के 51 दीये, शुद्ध सरसो का तेल, कपास की बाती, कलावा, सिंदूर के साथ पूजा किट तैयार की गई है। कहा कि गाय के गोबर के दीये उपयोग के बाद गमलों में डाल दिया जाए तो वह खाद का काम करेंगे। कहा कि यह किट 551 रुपये में ऑनलाइन व सीधे संपर्क में दी जा रही है। फतेहपुर विकास मंच के डॉ. देवेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि महिला समूह द्वारा तैयार दीये आनलाइन बुकिग के माध्यम से दिल्ली, हैदराबाद सहित अन्य शहरों में भेजे जा रहे हैं।

31 जुल॰ 2020

फतेहपुर Live : उत्तर प्रदेश शासन के जारी निर्देशों / आदेशों के अनुक्रम में फतेहपुर जिला प्रशासन द्वारा कोविड 19 के चलते अनलॉक 3.0 संबंधी आदेश जारी। क्लिक करके देखें पूरा आदेश

फतेहपुर Live : उत्तर प्रदेश शासन के जारी निर्देशों / आदेशों  के अनुक्रम में फतेहपुर जिला प्रशासन द्वारा कोविड 19 के चलते अनलॉक 3.0 संबंधी आदेश जारी। क्लिक करके देखें पूरा आदेश।