11 नव॰ 2020

Fatehpur Live : जिला प्रशासन की सख्ती ने भगाई नगरपालिका की सुस्ती, ठंड से बचाव के लिए तैयार होने लगे रैन बसेरे

Fatehpur Live : जिला प्रशासन की सख्ती ने भगाई नगरपालिका की सुस्ती, ठंड से बचाव के लिए तैयार होने लगे रैन बसेरे


फतेहपुर : ठंड से बचाव के लिए प्रशासन रैन बसेरों का निर्माण कराया जाता रहा है। ठंड जल्द पड़ने के चलते नगर पालिका प्रशासन को इसकी सुधि नहीं रही है। शासन ने भले ही लोगों को ठंड से बचाव के लिए निर्देश दिए थे, लेकिन धरातल पर यह काम ठंडे बस्ते में पड़ा हुआ था। जिला प्रशासन के सक्रिय होने के बाद रैन बसेरा निर्माण का कार्य शुरू हो गया है।


नगर पालिका ठंड से लोगों को बचाने के लिए शहर के रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन और जिला अस्पताल में तीन जगहों में रैन बसेरा बनाता आया है। रैन बसेरा के साथ ही इनमें ठंड को भगाने के लिए अलाव जलाने की व्यवस्था करता आया है। रात में खुले स्थानों में लोग न रात काटें इसके लिए नगर पालिका द्वारा बिस्तर और कंबल की व्यवस्था की जाती रही है। इन तमाम तैयारियों से रैन बसेरा को सरसब्ज करने के लिए नगर पालिका ने कमर कस ली है। 


तीन लाख की आबादी वाले शहर में तमाम लोग ऐसे होते हैं जो कमाई के लिए शहर आते हैं। और रात में फुटपाथ पर सो जाते हैं। गर्मी के दिनों में रिक्शा, ठेलिया, तथा मजदूरी करने वालों के लिए ठंड में रात काटना मुश्किल हो जाता है। शासन ने इन गरीबों को राहत देने के लिए रैन बसेरा बनाने के निर्देश दिए हैं।अधिशासी अधिकारी नगर पालिका मीरा सिंह ने बताया कि तीन अस्थाई रैन बसेरा बनाए गए हैं।इसके साथ नवीन मार्केट के पीछे स्थायी रैन बसेरा संचालित है। रैन बसेरा तैयार करने की रिपोर्ट डीएम को भेज दी गई है।

Fatehpur Live : जनपद के विकास के लिए जिला प्रशासन, जनता और सिविल सोसाइटी दोनो को होगा जुटना, वर्चुअल मीट सम्पन्न

Fatehpur Live : जनपद के विकास के लिए जिला प्रशासन, जनता और सिविल सोसाइटी दोनो को होगा जुटना, वर्चुअल मीट सम्पन्न



■  जनपद में विकास की संभावनाओं को लेकर फतेहपुर फोरम वर्चुअल मीट सम्पन्न,


■ जिलाधिकारी बोले आप दीजिये सुझाव - प्रशासन जमीन पर उतारने को रहेगा प्रयासरत 



 
गत वर्षों की भांति माटी से माटी कार्यक्रम की श्रृंखला एवं फ़तेहपुर स्थापना दिवस के मौके पर फतेहपुर फोरम व न्यू मीडिया सृजन संसार ग्लोबल फाउंडेशन के सहयोग से जनपद के विकास पर चिंतन हेतु ऑनलाइन वेबगोष्ठी का आयोजन 10 नवम्बर को शाम 7 बजे  किया गया। 

वेबगोष्ठी में देश, विदेश में रह रहे फतेहपुर की माटी के ढाई हजार से ज्यादा लोग सीधे मीटिंग में या लाइव जुड़े। ख्यातिलब्ध साहित्यकारों के साथ साथ विशिष्ट मेधा के व्यक्तित्वों के  साथ ही साथ जिला प्रशासन की तरफ से स्वयं जिलाधिकारी श्री संजीव सिंह द्वारा प्रतिभाग किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत कल्याण मंत्र के द्वारा सीधे ओमघाट, भिटौरा से की गई। माननीय राष्ट्रपति द्वारा प्रदत्त राजभाषा गौरव पुरस्कार 2019-20 विजेता डॉ शैलेश शुक्ल द्वारा जनपद के साहित्यकार श्री वेदप्रकाश मिश्र की कविता का पाठ करते हुए माटी के प्रति कर्तव्यों की याद दिलाई। संचालन का जिम्मा संभाले श्री राजीव तिवारी, विद्युत् अभियंता, भारत सरकार द्वारा फतेहपुर फोरम का परिचय व पूर्व में किये प्रयासों के बारे में बतलाते हुए न्यू मीडिया सृजन संसार ग्लोबल फाउंडेशन का आभार व्यक्त किया जिसके सहयोग से फतेहपुर फोरम द्वारा यह वेबगोष्ठी आयोजित की गयी।

प्रथम वक्ता के रूप में श्री प्रदीप श्रीवास्तव, अध्यक्ष फतेहपुर फोरम द्वारा जनपद फतेहपुर में जल और जलाशयों के संरक्षण के साथ साथ ससुरखदेरी नदी के कार्य को आगे बढाने का आग्रह जिला प्रशासन द्वारा किया गया।

ख्याति लब्ध साहित्यकार व समीक्षक डॉ ओम प्रकाश अवस्थी द्वारा फतेहपुर जनपद की सांस्कृतिक उपलब्धियों, विरासत उनकी चुनौतियां को लेकर लोक साहित्य को सहेजे जाने की आवश्यकता बताई। 

अपनी साहित्यिक कृतियों के जरिये प्रसिद्द साहित्यकार प्रोफेसर असगर वजाहत द्वारा जनपद की साहित्यिक विरासत को को आगे बढाने की चुनौतियों के साथ साथ रोजगार पर भी फोकस करने की आवश्यकता जताई।


भारत सरकार अंतर्गत डायरेक्टर कौशल विकास मंत्रालय से जुड़ी श्रीमती दीप्ति श्रीवास्तव द्वारा फतेहपुर जनपद जो कि एक पिछड़े जनपद के रूप में चिन्हित है वहां मानव कौशल विकास मिशन की उपलब्धियों, चुनौतियां और संभावित समाधान के बारे में विस्तार से जानकारी दी और केंद्र सरकार की योजनाओं के द्वारा किस प्रकार से फतेहपुर जनपद में बदलाव हेतु वास्तविक रूप में लागू किया जा सकता है इसके बारे में विस्तार से चर्चा की।

वेबगोष्ठी में इसी क्रम में एडवोकेट श्री प्रशांत उमराव सुप्रीम कोर्ट द्वारा फतेहपुर जनपद के समकालीन शैक्षिक उपलब्धियों चुनौतियों और के बारे में विस्तार से बताते हुए उनके द्वारा जनपद के प्रत्येक तहसील में केंद्रीय विद्यालय की स्थापना के विषय में अपने किए गए अपने प्रयासों के बारे में विस्तार से बताया गया और जिलाधिकारी महोदय से सहयोग की आकांक्षा व्यक्त की।


श्री जयंत मिश्रा प्रिंसिपल कमिश्नर, इनकम टैक्स द्वारा फतेहपुर जनपद की पहचान के लिए तेंदुली मंदिर के मॉडल का प्रदर्शन किया गया साथ ही साथ इसे जिला प्रशासन द्वारा अपनाने व प्रसारित करने की भी बात कही, जिससे आने वाले समय में इसे जनपद की पहचान के रूप में इसे विकसित किया जा सके।

अपने लेखन के जरिये प्रसिद्द श्री अमित राजपूत द्वारा विस्तार से जनपद के प्राचीन काल से लेकर आधुनिक लेखकों पर विस्तार से परिचय कराया गया साथ ही साथ साहित्यिक व्यक्तित्वों को कैसे आने वाली पीढ़ी से परिचित कराया जाए, इस पर भी विचार व्यक्त किये।

वेबगोष्ठी के अंतिम चरण में उठाए गए विभिन्न मुद्दों व विषयों पर जिलाधिकारी श्री संजीव सिंह द्वारा विस्तार से चर्चा की गई। उन्होंने जिला प्रशासन द्वारा पूर्ण सहयोग किए जाने की बात कही और कई बिंदुओं पर आगामी कार्ययोजना बतायी।

जनपद के विकास के लिए जिलाधिकारी ने अपनी निजी प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए यह आशा जताई कि फतेहपुर फोरम और फतेहपुर की जनता के सहयोग से आगे जल्द बड़े प्रयास और परिवर्तन होंगे और फतेहपुर पिछड़े जनपद के स्तर से जल्द मुक्ति पा सकेगा।

जिलाधिकारी महोदय द्वारा जनपद में पार्क और खेलकूद मैदान की कमी को देखते हुए दर क्लब की स्थापना और उसमें नए सिरे से सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराने की भी घोषणा मीटिंग में की गई जिसका सभी उपस्थित सदस्यों द्वारा स्वागत किया गया। जलसंरक्षण एवं प्रतिवर्ष सेना भर्ती हेतु जिला प्रशासन की तरफ से पूर्ण सहयोग हेतु आश्वासन दिया गया।

कार्यक्रम के समापन के अवसर पर श्री शैलेंद्र सिंह परिहार, सचिव दिल्ली सरकार द्वारा सभी फतेहपुर फोरम सदस्यों को अपनी माटी में रहने वाले पारिवारिक सदस्यों एवं मित्रों से लगातार संवाद और सहयोग बनाए रखने का आह्वान किया, तथा सभी प्रतिभागियों का धन्यवाद अदा करते हुए कार्यक्रम में जिलाधिकारी श्री संजीव सिंह को अपना कीमती समय देकर उपस्थित रहने के लिए विशेष धन्यवाद दिया गया।

वेबगोष्ठी में डॉ. शैलेश शुक्ल, प्रवीण त्रिवेदी, सचिन तिवारी व रविकांत मिश्र आदि द्वारा तकनीकी सहयोग किया गया।

Fatehpur Live : जनपद में खूबसूरत पार्क में बदलेगा 16 बीघे का दर क्लब

Fatehpur Live : जनपद में खूबसूरत पार्क में बदलेगा 16 बीघे का दर क्लब


फतेहपुर: डीएम आवास के ठीक पीछे 16 बीघे रकबे का दर क्लब अब शहर का सबसे खूबसूरत पार्क विकसित होगा। यह वही जमीन है, जिसमें पिछले डेढ़ दशक से भू-माफियाओं की नजर थी। कई बार इसको संरक्षित और सुरक्षित करने के प्रयास पूर्व अधिकारियों के द्वारा किए गए, लेकिन बजट के संकट से स्थिति ज्यो-त्यों ही रही। अब प्रशासन ने इसके लिए खनिज फाउंडेशन न्यास का खजाना खोलते हुए पार्क विकसित करने के लिए सवा करोड़ का प्रस्ताव तैयार किया है।


यूं तो शहर में 17 पार्क हैं, लेकिन जगह के मामले में किसी भी पार्क में इतनी जमीन नहीं हैं। नतीजा कि पार्क सिर्फ पेड़-पौधों और कुछ बेंच तक ही सीमित रह गए। जगह के अभाव में शहरी मुख्य सड़कों को मार्निंग वाक के लिए उपयोग में लाते हैं। कई बार यह दुर्घटनाओं का शिकार भी हो जाते हैं। अब प्रशासन ने यह नया प्रस्ताव तैयार किया है तो हर शहरी खुशी से झूमने लगा है। खास बात यह है कि यहां पार्क विकसित होने से दर क्लब की जमीन पर अवैध कब्जे की आशंका भी हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी। यह क्लब यूं तो अफसरों व कर्मचारियों के खेल-कूद के लिए करीब 65 साल पहले आरक्षित किया गया था, लेकिन अब इसे जब पार्क का रूप दिया जा रहा है, तो इसमें सबके लिए दरवाजे खोलने का प्लान तैयार किया जाएगा। पार्क में क्या क्या बनेगा


तैयार प्रस्ताव के अनुसार 16 बीघे के इस क्लब को पार्क का स्वरूप दिया जाएगा। इसमें वाकिग ट्रैक, रनिग ट्रैक अलग-अलग बनाए जाएंगे। पार्क में ओपेन जिम, बच्चों के लिए छोटे-बड़े छूले, बालीवाल कोट, खो-खो व कबड्डी के लिए सुरक्षित स्थान और योग करने वालों के लिए अलग स्थान बनेगा। पार्क में ग्रीनरी के लिए पौधे लगाए जाएंगे। दस्तावेजी पड़ताल में जमीन सरकारी


दर क्लब के लिए 16 बीघे के करीब जमीन पूरी तरह से सरकारी है। इस पर किसी की भूमिधर या कोई ऐसी सुरक्षित जमीन नहीं है जिसमें निर्माण कार्य न हो सके। हालांकि बीते वर्षों में कुछ लोग इस जमीन के अपनी होने का दावा करते रहे हैं। प्रस्ताव तैयार है, जल्द होगा काम: डीएम


डीएम संजीव सिंह ने कहा कि दर क्लब के विकास को लेकर वह काफी दिनों से प्रयास कर रहे थें, उन्होंने यहां का मौका-मुआयना भी किया है। शहर के बीच में इतनी जमीन एकमुश्त कहीं पर नहीं हैं। पार्क बनाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। जल्द ही इस पर काम भी शुरू किया जाएगा।

Fatehpur Live : गोबर के दियों से इको फ्रेंडली होगी दीवाली, ऑनलाइन उपलब्ध हैं पूजा किट

Fatehpur Live : गोबर के दियों से इको फ्रेंडली होगी दीवाली,  ऑनलाइन उपलब्ध हैं पूजा किट



फतेहपुर : कोरोना संकट के दौरान प्रकृति से हुए जुड़ाव ने दीवाली पर्व की तैयारियों को नया अंदाज दिया है। पर्यावरण संरक्षण की ओर बढ़ते कदमों में गाय के गोबर से तैयार दीये इस दीवाली के मुख्य आकर्षण होंगे। समाजसेवी अशोक तपस्वी की गोबर धनक्रांति योजना से जुड़कर कई महिलाओ ने गोबर के रंग-बिरंगे खूबसूरत दीयों की पैकजिग कर बाजार में पूजा किट के नाम से उतारा है। कई महिला स्वयं सहायता समूह गोबर के दीये तैयार कर ऑनलाइन बुकिंग की सुविधा दी है।


शहर के तपस्वीनगर में इस समय आठ से दस की संख्या में महिलाएं गाय के गोबर के दिये, शुभ-लाभ, स्वास्तिक का चिन्ह आदि तैयार करने में लगी है। दीक्षा सिंह, प्रेमा, अफरोज जहां, मोमिना, शबीना बेगम आदि ने बताया कि गाय के गोबर में लकड़ी का बुरादा मिलाकर डिजाइनर दीये एक दिन में सौ से अधिक तैयार हो जाते है। सुखाने के बाद दीयों में अलग-अलग रंग भरे जाते हैं। फतेहपुर विकास मंच से जुड़े कई महिला समूहों ने गांव में गाय के गोबर से दीये तैयार कर बाजार में बिक्री के लिए उतार दिए है। बाजार में इस बार इलेक्ट्रानिक झालर से घर रोशन करने के साथ दीयों की रोशनी करने के प्रति रुझान तेज हुआ है। शुद्धता के साथ पर्यावरण के लिए बेहतर मान कर इस साल गाय के गोबर से तैयार दीयों की धूम कम नहीं है।


ऑनलाइन बुकिग
-समाजसेवी अशोक तपस्वी ने बताया कि गाय के गोबर के 51 दीये, शुद्ध सरसो का तेल, कपास की बाती, कलावा, सिंदूर के साथ पूजा किट तैयार की गई है। कहा कि गाय के गोबर के दीये उपयोग के बाद गमलों में डाल दिया जाए तो वह खाद का काम करेंगे। कहा कि यह किट 551 रुपये में ऑनलाइन व सीधे संपर्क में दी जा रही है। फतेहपुर विकास मंच के डॉ. देवेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि महिला समूह द्वारा तैयार दीये आनलाइन बुकिग के माध्यम से दिल्ली, हैदराबाद सहित अन्य शहरों में भेजे जा रहे हैं।

31 जुल॰ 2020

फतेहपुर Live : उत्तर प्रदेश शासन के जारी निर्देशों / आदेशों के अनुक्रम में फतेहपुर जिला प्रशासन द्वारा कोविड 19 के चलते अनलॉक 3.0 संबंधी आदेश जारी। क्लिक करके देखें पूरा आदेश

फतेहपुर Live : उत्तर प्रदेश शासन के जारी निर्देशों / आदेशों  के अनुक्रम में फतेहपुर जिला प्रशासन द्वारा कोविड 19 के चलते अनलॉक 3.0 संबंधी आदेश जारी। क्लिक करके देखें पूरा आदेश। 

30 जुल॰ 2020

पं० दीनदयाल उपाध्याय राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय खासमऊ खागा में कक्षा 11 के छात्रों के प्रवेश के लिए करें आवेदन

फतेहपुर Live :  पं० दीनदयाल उपाध्याय राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय खासमऊ खागा में कक्षा 11 के छात्रों के प्रवेश के लिए करें आवेदन



फतेहपुर Live  ।  पं० दीनदयाल उपाध्याय राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय खासमऊ खागा में 40 छात्रो के प्रवेश हेतु आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। 


 यह जानकारी देते हुए जिला समाज कल्याण अधिकारी के0 एस0 मिश्र ने बताया कि समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित पं० दीनदयाल उपाध्याय राजकीय आश्रम पद्वति विद्यालय, खासमऊ खागा फतेहपुर में शिक्षण सत्र 2020-21 हेतु कक्षा- 11 की मानविकी/ कला वर्ग (हिन्दी, अंग्रेजी, इतिहास, नागरिक शास्त्र एवं अर्थशास्त्र) विषयो के साथ स्वीकृत क्षमता/रिक्त सीटों पर विभाग द्वारा सामन्य वर्ग शहरी-01 एवं ग्रामीण क्षेत्र -05, पिछड़ा वर्ग शहरी क्षेत्र-05 एवं ग्रामीण क्षेत्र-08 एवम अनुसूचित जाति के शहरी क्षेत्र -04, एवं ग्रामीण क्षेत्र-20 कुल 40 सीट पर निर्धारित व्यवस्थानुसार प्रवेश दिया जाएगा।


छात्रो का चयन आरक्षित मेरिट के आधार पर किया जाना है. इच्छुक छात्र आवेदन पत्र पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय आश्रम पद्वति विद्यालय, खासमऊ खागा, फतेहपुर से किसी भी कार्यदिवस में सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे के बीच निःशुल्क निर्धारित तिथि तक आवेदन पत्र प्राप्त कर भर कर जमा कर सकते है। आवेदन पत्रों के साथ हाईस्कूल के अंकपत्र की प्रति लगाना अनिवार्य है.


17 जुल॰ 2020

फतेहपुर Live : केंद्रीय विद्यालय में दाखिले को सात अगस्त तक करें आवेदन, ऑनलाइन आवेदन कर कक्षा पांच तक ले सकते हैं दाखिला

फतेहपुर Live : केंद्रीय विद्यालय में दाखिले को सात अगस्त तक करें आवेदन, ऑनलाइन आवेदन कर कक्षा पांच तक ले सकते हैं दाखिला



 केंद्रीय विद्यालय के प्रधानाचार्य आमोद झा ने बताया कि राजकीय इंटर कॉलेज के नए भवन में चालू होने वाले केंद्रीय विद्यालय में प्रवेश के लिए 20 जुलाई से सात अगस्त तक आवेदन का समय तय है।


जिले में केंद्रीय विद्यालय पहला सत्र शुरू करने जा रहा है। राजकीय इंटर कालेज नए भवन में चालू होने वाले केंद्रीय विद्यालय में प्रवेश के लिए 20 जुलाई से सात अगस्त तक आवेदन का समय तय हुआ है। इसके बाद चयनित बच्चों की पहली सूची 11 अगस्त, दूसरी सूची 24 अगस्त और तीसरी सूची 26 अगस्त को जारी होगी। सेवा श्रेणी के चयनित बच्चों का प्रवेश 27 से 29 अगस्त के बीच लिया जाएगा। इसके बाद शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत चयनित बच्चों का प्रवेश 31 अगस्त से पांच सितंबर के मध्य होगा। अन्य कक्षाओं में प्रवेश के लिए ऑफलाइन पंजीकरण 20 से 25 जुलाई के मध्य किए जाएंगे। चयनित बच्चों की सूची 29 जुलाई की शाम पांच बजे जारी होगी। 


30 जुलाई से सात अगस्त तक इन बच्चों के प्रवेश लिए जाएंगे। केंद्रीय विद्यालय शहर सीमा में आने वाले मधुपुरी में स्वीकृत है। यहां पर विद्यालय की साढ़े 13 बीघे जमीन है। इसी में विद्यालय भवन दो साल में बनकर तैयार होगा। इस दौरान विद्यालय राजकीय इंटर कालेज में संचालित होगा। केंद्रीय विद्यालय के प्रधानाचार्य आमोद झा ने बताया कि जिले में विद्यालय चलाने की सभी औपचारिकताएं पूरी हो गई हैं। संगठन से प्रवेश की अनुमति मिलते ही प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इसके लिए संगठन जल्द ही विज्ञापन जारी करेगा।

12 जुल॰ 2020

फतेहपुर Live : फिरंगियों को खदेड़ 32 दिन तक चलाई थी स्वतंत्र सरकार, आज है आजादी के इस फतेहपुरी नायक का बलिदान दिवस

Fatehpur Live : आजादी के फतेहपुरी नायक शहीद डिप्टी कलक्टर हिकमत उल्ला


फतेहपुर Live : फिरंगियों को खदेड़ 32 दिन तक चलाई थी स्वतंत्र सरकार, आज है आजादी के इस फतेहपुरी नायक का बलिदान दिवस


शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले, वतन पर मरने वालों का यही बाकी निशां होगा'

आजादी के फतेहपुरी नायक शहीद डिप्टी कलक्टर हिकमत उल्ला को याद कर बरबस यह मुंह से निकल जाता है।। 1857 की जंगे आजादी में जिले के नायक के रूप में उभरे इस प्रशासनिक अधिकारी ने उस समय अंग्रेजों से जमकर लोहा लिया था। आज ही के दिन 12 जुलाई को सदर कोतवाली, फ़तेहपुर में क्रूर अंग्रेजों ने उनका सिर कलम करके टांग दिया था। आज भी उनकी याद में सदर कोतवाली में शहीद हिकमत उल्ला द्वार को देखा जा सकता है। 


1857 की विद्रोह की चिंगारी ने जिले की अंग्रेजी हुकूमत को हिलाकर रख दिया था। खागा के ठाकुर दरियाव सिंह, बिठूर के नाना साहब, अवध के केशरी राणा बेनीमाधव सिंह ने गुप्त बैठकें कर जनपदों में अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ विद्रोह छेड़ दिया। 4 जून को कानपुर और 7 जून को इलाहाबाद स्वतंत्र घोषित हो गए। इसके बाद 200 विद्रोहियों ने फतेहपुर में डेरा डाल दिया। 8 जून को ठाकुर दरियाव सिंह के सेनानायक व उनके पुत्र सुजान सिंह ने खागा के राजकोष में कब्जा कर लिया और स्वतंत्रता का ध्वज लहरा दिया।


 बिठूर के नाना साहब के निर्देशन पर क्रांतिकारियों ने पहले खागा राजकोष पर अधिकार कर अंग्रेजों से सत्ता छीनी, फिर फतेहपुर में दबाव बनाया तो कलक्टर मि. टक्कर ने आत्महत्या कर ली। सरकारी बंगले को फूंकने के बाद क्रांतिकारियों ने जेल से कैदियों को मुक्त कराया और 9 जून को समूचे जनपद को स्वतंत्र घोषित कर दिया।  10 जून को विद्रोही जेल पहुंचे और बंदियों को मुक्त कराया।

बिठूर में नाना साहब को फतेहपुर के स्वतंत्र होने की जैसे ही खबर लगी, उन्होंने स्वतंत्र सरकार के चकलेदार (प्रशासक)के रूप में उस समय के डिप्टी कलक्टर हिकमत उल्ला खां को नियुक्त कर दिया। फतेहपुर व कानपुर में पूर्ण अधिकार मिलने की खुशी में बिठूर में तोपें दागी गई और क्रांतिकारियों ने सभी जिले के कोतवालों को यह हुक्म दिया कि नगर व गांवों में डुग्गी पिटवाकर यह बता दिया जाए कि अब अपनी सरकार है और एक माह तक जिले में स्वतंत्र सरकार चली।